एक मुखी रुद्राक्ष संपूर्ण जानकारी

Ek Mukhi Rudraksha
Share this to
  • 125
  •  
  • 4
  • 17
  •  
    146
    Shares

एक मुखी रुद्राक्ष को साक्षात शिव का रूप माना जाता है। एक मुखी रुद्राक्ष के अलग-अलग प्रकार के दाने इस धरती पर पाए जाते है। एक गोल आकार में होता है, दूसरा काजू के आकार में और तीसरा इंडोनेशिया में जो रुद्राक्ष मिलता है, वह आकार में बहुत ही छोटा होता है।

एक मुखी रुद्राक्ष ज्यादा कर चंद्राकार के काजू के दाना आकर का ही प्रचलित है एक मुखी काजू दाना ही रुद्राक्ष बाजार में बिकता है और वही रुद्राक्ष मिलता है।

एक मुखी रुद्राक्ष को हमेशा साफ स्थान पर रखना चाहिए। यह भी माना जाता है कि जो लोग एकमुखी रुद्राक्ष धारण करते हैं वे पापकर्मों में संलिप्त नहीं होते हैं क्योंकि यह आपको गलत रास्ते की ओर जाने से रोकता है। आमतौर पर रुद्राक्ष को विशेष लाभ के लिए पहना जाता है इसलिए एक अनुभवी ज्योतिषी से परामर्श के बाद पहना जाना चाहिए।

आपको बता दें कि एक मुखी रुद्राक्ष में बहुत अधिक ऊर्जा होती है इसलिए इसे शुरुआत में धारण करने पर आपको बेचैनी या चक्कर महसूस हो सकते हैं।

सावधान रहे – रुद्राक्ष कभी भी लैब सर्टिफिकेट के साथ ही खरीदना चाहिए। आज मार्केट में कई लोग नकली रुद्राक्ष बेच रहे है, इन लोगो से सावधान रहे। रुद्राक्ष कभी भी प्रतिष्ठित जगह से ही ख़रीदे। 100% नेचुरल – लैब सर्टिफाइड रुद्राक्ष ख़रीदे, अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

एक मुखी रुद्राक्ष को धारण करने के फायदे

  • यह रुद्राक्ष मन को स्पष्टता देता है और आपको ईश्वर से जोड़ता है
  • इसमें सहस्त्र चक्र का ध्यान रखा गया है जो स्वर्ग और पृथ्वी के बीच की कड़ी का प्रतीक है
  • एक मुखी रुद्राक्ष पहनने वाले को आध्यात्मिक और भौतिक लाभ प्रदान करता है
  • यह रुद्राक्ष पहनने वाले की इच्छा को पूरा करता है
  • यह रुद्राक्ष धारी के पापों और पिछले कर्मों को नष्ट कर देता है
  • यह रुद्राक्ष कुछ दिनों में माइग्रेन को ठीक करने में मदद करता है
  • यह रुद्राक्ष अवसाद, चिंता और ठीक करने में मदद करता है
  • यह रुद्राक्ष मन की शांति पाने में मदद करता है
  • यह रुद्राक्ष एकाग्रता को बढ़ाने में मदद करता है
  • यह रुद्राक्ष आपको अपनी इंद्रियों पर पूर्ण नियंत्रण रखने में मदद करता है
  • यह रुद्राक्ष श्वसन रोगों को ठीक करने में मदद करता है
  • यह रुद्राक्ष क्रूर ग्रहों के नकारात्मक प्रभाव को दूर करने में मदद करता है
  • जन्म कुंडली में सूर्य के नकारात्मक प्रभाव को दूर करने के लिए पहना जाता है
  • यह रुद्राक्ष पहनने वाले को महत्वाकांक्षी बनाता है
  • जब घर में रखा जाता है तो यह पूरे परिवार में शांति और सद्भावना को पैदा करता है
  • यह रुद्राक्ष जीवन से जटिलताओं को दूर करता है
  • यह रुद्राक्ष गुस्से को नियंत्रित करने में मदद करता है
  • यह रुद्राक्ष धारण करने वाले को नेतृत्व गुणों के साथ और तनाव को दूर करने में मदद मिलती है

किन जातकों को एक मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहिए

  • राशि के अनुसार – सिंह राशि वालों को एक मुखी रुद्राक्ष अवश्य पहनना चाहिए
  • लग्न के अनुसार – सिंह लग्न वालों को एक मुखी रुद्राक्ष अवश्य पहनना चाहिए
  • नक्षत्र के अनुसार – कृत्तिका नक्षत्र, उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र, उत्तराषाढ़ा नक्षत्र वालों को एक मुखी रुद्राक्ष अवश्य पहनना चाहिए
  • मूलांक अंक 1 वालों को एक मुखी रुद्राक्ष अवश्य पहनना चाहिए

एक मुखी रुद्राक्ष धारण करने की विधि

  • एक मुखी रुद्राक्ष को धारण करने के लिए सोमवार का दिन शुभ माना जाता है।
  • इसे धारण करने से पहले गंगाजल या दूध से शुद्ध करना चाहिए।
  • सोमवार को सुबह स्नानादि करने के पश्चात रुद्राक्ष को पहनना उत्तम होता है।
  • पूर्व दिशा में बैठकर इस रुद्राक्ष को धारण करना चाहिए और मंत्र : ॐ ह्रीं नमः या ॐ नम: शिवाय का 108 बार जाप करना चाहिए।
  • एक मुखी रुद्राक्ष को सोने या चांदी की माला के साथ पहनना चाहिए या इसे काले या लाल धागे के साथ पहनना चाहिए।

सावधान रहे – रुद्राक्ष कभी भी लैब सर्टिफिकेट के साथ ही खरीदना चाहिए। आज मार्केट में कई लोग नकली रुद्राक्ष बेच रहे है, इन लोगो से सावधान रहे। रुद्राक्ष कभी भी प्रतिष्ठित जगह से ही ख़रीदे। 100% नेचुरल – लैब सर्टिफाइड रुद्राक्ष ख़रीदे, अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

अगर आपको यह लेख पसंद आया है, तो हमारे YouTube चैनल को सब्सक्राइब करें, नवग्रह के रत्न, रुद्राक्ष, रत्न की जानकारी और कई अन्य जानकारी के लिए। आप हमसे Facebook और Instagram पर भी जुड़ सकते है

नवग्रह के नग, नेचरल रुद्राक्ष की जानकारी के लिए आप हमारी साइट Gems For Everyone पर जा सकते हैं। सभी प्रकार के नवग्रह के नग – हिरा, माणिक, पन्ना, पुखराज, नीलम, मोती, लहसुनिया, गोमेद मिलते है। 1 से 14 मुखी नेचरल रुद्राक्ष मिलते है। सभी प्रकार के नवग्रह के नग और रुद्राक्ष बाजार से आधी दरों पर उपलब्ध है। सभी प्रकार के रत्न और रुद्राक्ष सर्टिफिकेट के साथ बेचे जाते हैं। रत्न और रुद्राक्ष की जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें।


Share this to
  • 125
  •  
  • 4
  • 17
  •  
    146
    Shares
कुंडली से लग्न की पहचान Rudraksha as Per Rashi – राशि के अनुसार रुद्राक्ष Rudraksha as Per Lagna – लग्न के अनुसार रुद्राक्ष Lagna as per Kundli Customer Reviews Customer Reviews