मूंगा मंगल का रत्न है

Share this to
  •  
  •  
  •  
  •  

मूंगा मंगल का रत्न है। मूंगा एक जैविक लकडी़ है, जिसे साफ-सफाई व पॉलिश कर तराशा जाता है, फिर दो शक्लों में आकार दिया जाता है। एक ओवल यानी केप्सूल साइज व दूसरा तिकोना मूंगा दो ही आकार में मिलता है।

यह रत्न सूर्ख लाल व सिन्दूरी कलर में मिलता है। बडा़ मूंगा वजनदार व महंगा भी हो सकता है।

जिसको पहचानना आम आदमी के लिए जरा मुश्किल ही रहता है। कई दुकानदार नकली मूंगा को असली बता कर बेच देते है। कई ज्योतिषगण भी असली और नकली में फर्क नहीं निकाल पाते।

कैसे परखें असली-नकली मूंगा :- मूंगे की सही परख करने के लिए- मूंगे पर एक बूंद पानी की टपकाएं, फिर देखें पानी रूकेगा नहीं। अगर पानी उस पर रूक जाए तो वह असली मूंगा नहीं होता।

मैग्निफाइंग ग्लास से देखने पर मूंगा के ऊपर सफेद बॉल बराबर खडी़ रेखाएं दिखती है, जबकि नकली मूंगे में नहीं दिखाई देती।

मूंगा चिकना व फिसलनयुक्त होता है, नकली रत्न गहरे रंग का व फिसलन वाला नहीं होता। इसी तरह मूंगा देखकर, परख कर ही खरीदें।

मूंगा खरीदते समय ध्यान रखने वाली बात यह है कि मूंगा सुला हुआ या कहीं से कटा हुआ नहीं होना चाहिए, ना ही उस पर कोई काला दाग होना चाहिए।

मूंगा कौन पहनें :- मूंगा मंगल का रत्न है। मंगल साहस, बल, ऊर्जा का कारक, विस्फोटक सामग्री के व्यवसाय, पेट्रोल पंप, गैस एजन्सी, पहलवानी, सुरक्षा से संबंधित कार्य करने वाले, सेना, पुलिस, राजनीति, ईंट-भट्टे के कार्य, जमीन-प्रापर्टी से संबंधित कार्य, बिर्ल्डर व बिल्डिंग मटेरियल सप्लायर, अस्थी रोग विशेषज्ञ, खून की जांच, ब्लड से संबंधित लेबोरेटरी आदि कार्यों का प्रतिनिधित्व करने वाला ग्रह है।

उपरोक्त में से जो भी कार्य करते हो वह अपनी पत्रिका दिखवा कर मूंगा पहन सकते हैं।

किस रत्न के साथ पहनें मूंगा :- मूंगा पहनने से पहले पत्रिका अवश्य ही दिखाएं क्योंकि मंगल की दो राशि होती है, एक मेष जो अग्नितत्व प्रधान राशि है और दूसरी वृश्चिक जो जलतत्व प्रधान राशि है।

यह ग्रह यदि आपकी पत्रिका में एक राशि व्यय या षष्ट भाव में हो या अष्टम में हो तब सोच-समझ कर ही मूंगा पहनें। नहीं तो लाभ की जगह हानि हो सकती है।

जिसकी मेष, वृश्चिक राशि हो या लग्न हो एवं सिंह, धनु, मीन राशि हो वह लोग भी मूंगा पहन सकते हैं। 

मंगल का मित्र सूर्य है। अतः माणिक के साथ भी मूंगा पहना जा सकता है।

मूंगा रत्न पुखराज, मोती के साथ भी पहन सकते हैं।

मूंगा माणिक, पुखराज व मोती का संयुक्त लॉकेट बनवाकर भी पहन सकते हैं।


Share this to
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Thanks for Choosing to leave a comment. Please keep in mind that comments are moderated according to our comment policy, and your email address will NOT be published.